दोस्त की बहन के जिस्म का भूगोल | Hindi Behan Ki Chudai

दोस्त की बहन के जिस्म का भूगोल

हैल्लो दोस्तों,

मेरा एक बहुत अच्छा दोस्त है, जिसका नाम रंजीत है, जो मुंबई में ही अपनी बड़ी बहन और माँ के साथ रहता है और वो एक प्राइवेट बेंक में नौकरी करता है, उसके परिवार में सिर्फ़ तीन लोग है, एक रंजीत उसकी मम्मी और उसकी दीदी कामिनी। उसकी मम्मी की उम्र 48 साल है और बड़ी बहन 28 साल जिनकी शादी हो चुकी है और उनका पति पिछले पांच साल से जर्मनी में एक कंपनी में काम करता है। दोस्तों जैसा कि आप लोग अच्छी तरह से जानते है कि गाँव में शादियाँ छोटी ही उम्र में हो जाती है और खासतौर पर लड़कियों की। उसकी मम्मी की भी 15 साल की उम्र में शादी हुई थी और इस तरह से मेरे दोस्त की बड़ी बहन की भी 18 साल की उम्र में शादी हो गयी थी। दोस्तों उसकी बड़ी बहन का नाम रीना है। में और रंजीत कॉलेज के जमाने के पक्के दोस्त है और इसलिए हम दोनों अक्सर एक दूसरे के घर पर आते जाते रहते है, उसकी बड़ी बहन बहुत ही खुले विचार वाली महिला है और वो मुझे अपने भाई रंजीत की तरह ही मानती है और उस दिन शनिवार था और में अपने रूम में आराम कर रहा था कि रीना मेरे घर पर आ गई और वो अक्सर आती रहती थी और वो हमेशा मेरे लिए कुछ ना कुछ जरुर लेकर आती थी।

दोस्त की बहन के जिस्म का भूगोल

फिर उस दिन भी वो बाजार से खरीददारी करके आई थी। रीना दीदी 28 साल की बहुत ही सुंदर और कामुक चेहरे वाली औरत है। उनका फिगर 38-28-36 है और उनकी गोरी उभरी हुई छाती और गांड को देखकर किसी का भी लंड खड़ा हो सकता, जैसे ही वो मेरे रूम में आई तो मुझसे कहने लगी क्या बात है महेश आज कल तुम घर नहीं आ रहे हो? में बोला कि दीदी आज कल मुझे काम के सिलसिले में कई कई महीनो तक बाहर रहना होता है, इसलिए में नहीं आ सका। अब वो मुस्कुराते हुए बोली कि मुझे सब मालूम है कि तुम क्या काम करते हो? अच्छा चल अब मुझे पानी तो पिला दे। अब मैंने उनसे कहा हाँ दीदी मुझे माफ़ करना, में अभी लाता हूँ और मैंने फ़्रीज़ से पानी की एक बोतल निकालकर उनको दी, जिसके बाद वो पानी पीकर बोली उउफफफफ्फ़ आज कितनी गरमी है। फिर मैंने बोला कि हाँ दीदी और फिर हम दोनों में ऐसे ही बातें होती रही। तब मैंने उनसे पूछा कि रंजीत और मम्मी कैसी है? तब वो बोली कि वो दोनों तो आज सुबह ही गाँव गए है और में अकेली बोर हो रही थी, इसलिए में तुम्हारे पास चली आई और इतने में बाहर जोरदार बारिश होने लगी, जो बहुत देर तक चली और वो रुकने का नाम ही नहीं ले रही थी और यह देखकर दीदी अब बड़ी परेशान हो गयी और वो कहने लगी, अरे यार अब में अपने घर पर कैसे जाउंगी, आज तो यह पानी बिल्कुल भी कम नहीं होता दिखता? में उनसे बोला कि रीना दीदी अब जब तक यह बारिश नहीं रुक जाती है, तब तक आपको यहीं पर रुकना पड़ेगा और वैसे भी आप आज घर में बिल्कुल अकेली रहोगी, यहाँ पर मेरे साथ रहने से आपका समय भी पास हो जाएगा।

दीदी : लेकिन?

में : अरे दीदी हो सकता है, सुबह तक यह बारिश थम जाएगी आप तब चली जाना।

दीदी : लेकिन में यहाँ पर उफफफ्फ़ अब क्या करूँ?

फिर मैंने उनसे पूछा क्यों क्या हुआ दीदी? वो बोली कि हुआ क्या अब तो मुझे यहाँ रुकना ही पड़ेगा और क्या? तो में पूछने लगा क्यों क्या हुआ? यहाँ पर आपको कौन सी परेशानी है? वो कहने लगी अरे यार, लेकिन में रात को क्या पहनूंगी? क्या तेरे पास और कपड़े है? में बोला कि हाँ यह परेशानी तो है, आप मेरी लूँगी और कुर्ता पहन लेना तो वो बोली कि हाँ यही ठीक रहेगा, अच्छा खाने का क्या है? मैंने उनसे कहा कि खाना तो बनाना पड़ेगा दीदी। फिर वो बोली कि हाँ चलो ठीक है, घर में दाल चावल तो होंगे, हम आज वही बना लेते है। फिर मैंने कहा कि हाँ दाल चावल है और कुछ सब्ज़ियाँ भी है, जो फ़्रीज़ में रखी हुई है।

दोस्तों उस समय शाम के 8 बज चुके थे और अब दीदी रसोई में हम दोनों के लिए खाना तैयार कर रही थी और में टी.वी. देख रहा था। तभी रीना दीदी ने मुझे आवाज़ देकर कहा महेश यहाँ तो आ, में उनके पास चला गया और बोला कि हाँ दीदी बताओ ना क्या बात है? तो वो पूछने लगी अरे घी कहाँ है? मैंने उन्हें घी का डब्बा दे दिया और में वहीं पर खड़ा हो गया और दीदी उस समय लूंगी और सफेद रंग के पतले कुर्ते में थी, जो कि उनके पसीने से भीग गया था, क्योंकि रसोई में बहुत गरमी थी और भीगी हुई लूंगी और कुर्ते से मुझे उनके बदन का सारा भूगोल नज़र आ रहा था और उनकी गांड को देखकर मेरे अंदर का शैतान जाग उठा, उनके कूल्हों का आकार, रंग देखकर पता चलता था कि उन्होंने अंदर पेंटी नहीं पहनी है उूउउफ़फ्फ़ यह सब देखकर मेरा लंड एकदम खड़ा हो गया और मुझे बुरे बुरे विचार मन में आने लगे, लेकिन वो मेरे दोस्त की बड़ी बहन है, यह बात सोचकर में वापस अपने कमरे में जाने लगा। फिर वो बोली कहाँ जा रहे हो यहीं रहो ना? में अकेली बोर हो रही हूँ, चलो कुछ बातें करते है, खाना भी बन जाएगा और मुझे बौरियत भी नहीं होगी। फिर मैंने कहा कि हाँ ठीक है दीदी और बताओ आपको यहाँ पर किसी बात की कोई परेशानी तो नहीं है? दीदी बोली कि नहीं मुझे कोई भी परेशानी नहीं है, में यहाँ पर बहुत आराम से हूँ, तुम्हारे दफ्तर के क्या हाल है? मैंने कहा कि जी एकदम ठीक है, में तो बस दफ़्तर जाता हूँ और घर पर रहता हूँ। फिर उन्होंने मुझसे पूछा अच्छा महेश ज़रा तू मुझे एक बात सच सच बता? मैंने पूछा हाँ वो क्या दीदी?

दीदी : तू दफ्तर में अपने काम पर ध्यान देता है या लड़कियों पर?

में : क्या दीदी आप भी बस?

दीदी : क्यों क्या तेरे दफ्तर में कोई सुंदर लड़की नहीं है?

में : हाँ है दीदी, बहुत सी है, लेकिन में सिर्फ़ अपने काम पर ध्यान देता हूँ।

दीदी : चल हट तू मुझे ही बना रहा है, में बहुत जानती हूँ लड़कियों की किसी लड़के को देखकर उनकी क्या हालत होती है? और वो भी अगर लड़का तुम्हारे जैसे सुंदर हो तो।

में : हाँ, लेकिन में ऐसा नहीं हूँ।

दीदी : अच्छा चल कोई तो तुझे अच्छी लगती होगी?

में : नहीं दीदी।

दीदी : नहीं चल में नहीं मानती एक जवान लड़का जिसे कोई लड़की अच्छी नहीं लगती हो, यह हो ही नहीं सकता?

में : हाँ दीदी मुझे आप भी क्या कोई भी अच्छी नहीं लगती।

दीदी : ऐसा क्यों, क्या तू जावन नहीं है?

में : हाँ हूँ ना।

दीदी : क्या तुझमें कोई कमी है?

में : क्या दीदी आप भी बात कहाँ ले गई?

दीदी : में जवान भी हूँ और मुझमें कोई कमी भी नहीं है, लेकिन मुझे जवान लड़कियाँ अच्छी नहीं लगती।

दीदी : क्यों जवान लड़कियाँ क्यों नहीं?

अब जाने भी दो ना आप मेरी बड़ी बहन जैसी हो और बहन भाई में ऐसी बात हो जाती, अरे यार तुम शहर में रहते हो, 21 वीं सदी में जी रहे हो और तुम बातें कर रहे हो पुराने जमाने की, अरे पागल आज कल तो भाई बहन भी एक दोस्त की तरह होते है, जो आपस में अपने मन की सारी बातें एक दूसरे को बता देते है, बिना किसी शरम या झिझक के, अच्छा चल अब यह बता तू बियर वगेराह पीता है? तब मैंने बोला कि हाँ दीदी कभी कभी दोस्तों के साथ उनके कहने पर में भी पी लेता हूँ। फिर उन्होंने पूछा क्या अभी है तेरे पास? मैंने कहा कि हाँ दीदी फ़्रीज़ में चार बोतल है, क्या आप भी पीती हो? हाँ रे जब गरमी ज़्यादा होती है तो तेरे जीजा जी मुझे पिला देते है और कभी कभी तो वो मुझे व्हिस्की भी पीला देते है। फिर मैंने कहा कि तुम बहुत बदल गई हो। फिर दीदी हंसते हुए बोली अरे बेटा यह सब शहर की हवा का असर है, में तुम्हारे जीजा के साथ पार्टियों में जाती हूँ तो मुझे पीनी पड़ती है और जितनी बड़ी पार्टियों में हम जाते है, वहां पर यह सब तो आम बात है कभी तू भी चलना हमारे साथ। फिर मैंने कहा कि हाँ ठीक है दीदी अब आप नहा लो। फिर हम बियर पीते हुए बातें करते रहेंगे, ठीक है कहकर वो अपनी गांड को हिलाती हुई नहाने चली गयी और में अपने लंड को पकड़कर मसल रहा था और सोच रहा था कि आज दीदी बड़ी फ्रेंक होकर बातें कर रही है, हो सकता है आज मुझे उनको चोदने का मौका मिल जाए? और में सोचने लगा कि रीना दीदी जब नहाकर मेरे लूँगी और कुर्ता बिना पेंटी के पहनेगी तो शायद आज रात को उसकी लूँगी हट जाए या खुल जाए तो उनकी चूत के दर्शन मुझे हो ज़ाए? तभी दीदी नहाकर आ गई और मैंने तुरंत अपने लंड को अंडरवियर में अपनी जगह सेट किया और में बोला क्यों नहा ली दीदी? वो बोली कि हाँ अब तू भी नहा ले। फिर में बोला कि जी हाँ ठीक है और में बाथरूम में आकर अपने कपड़े उतारकर जैसे ही कपड़े टाँगने के लिए खूँटी की तरफ बड़ा तो में हैरान रह गया कि दीदी की ब्रा और पेंटी वहाँ टंगी हुई थी, मुझे कुछ अजीब सा लगा। फिर मैंने सोचा कि शायद उन्होंने अपनी पेंटी को तब उतारी होगी, जब वो पहली बार पेशाब के लिए आई थी। फिर मैंने वो पेंटी नीचे उतारकर अपने एक हाथ में ले लिया और में उसको सूंघने लगा, हाईईईई दोस्तों सच कहता हूँ उसकी चूत की महक से में बिल्कुल पागल हो गया और में मुठ मारने लगा, जब मेरा लंड झड़ गया, तो में जल्दी से नहाकर बाहर आ गया। दोस्तों ये कहानी आप vipchoti.com पर पड़ रहे है।

फिर दीदी ने मुझसे पूछा क्यों बड़ी देर लगा दी तुमने नहाने में? में घबरा गया और बोला वो दीदी गरमी बहुत है ना और वो कहने लगी अच्छा चल अब बियर खोल। फिर मैंने दो बोतल बियर खोली और एक उनको दे दी और एक खुद ने ले ली और दीदी बेड पर अपने दोनों पैरों को लंबा करके सिरहाने से अपनी पीठ को लगाकर बैठी हुई थी, में उनको गौर से देखने लगा। फिर वो मुझसे बोली क्या बात है महेश तू मुझे ऐसे क्या देख रहा है? में यह बात सुनकर सकपका गया और बोला कि कुछ नहीं दीदी में देख रहा था कि आप मेरे कपड़ों में बहुत अच्छी लग रही हो।

दीदी : अच्छ बेटा तुझे तो लड़कियाँ अच्छी ही नहीं लगती, तो फिर में कैसे तुझे अच्छी लगने लगी?

में : अओहूओ दीदी आप कोई लड़की थोड़े ही हो कहकर में चुप हो गया।

दीदी : अरे में लड़की नहीं तो क्या कोई मर्द हूँ?

में : अरे नहीं दीदी, मेरा वो मतलब नहीं था।

दीदी : तो फिर क्या था?

में : अओहूऊओ अब में आपको कैसे बताऊं आप मेरी बड़ी बहन जैसी हो?

दीदी : अरे यार फिर वही ढकियानूसी बातें, अरे अब हम दोस्त है, देख तू मेरे साथ बियर पी रहा है और अब मुझसे कैसी शरम तू खुलकर बोल में बुरा नहीं मानूगी, वो अपनी बियर की बोतल खाली करके बोली, दीदी फिर मुझसे बोली कि, लेकिन पहले दूसरी बोतल खोलकर तू मुझे दे दे।

फिर मैंने कहा कि हाँ ठीक है, दीदी पूछने लगी क्यों तू और नहीं लेगा? मैंने कहा हाँ लूँगा दीदी, लेकिन पहले अगर आप नाराज़ ना हो तो में एक सिगरेट पी लूँ? मेरी बात को सुनकर वो पालती मारकर बैठ गई और बोली कि धत इसमें नाराज़ होने वाली कौन सी बात है? ला एक मुझे भी दे। अब में उनकी यह बात सुनकर बड़ा हैरान रह गया। फिर मैंने चकित होकर पूछा क्या आप भी? दीदी बोली हाँ कभी कभी, लेकिन आज सोचा क्यों ना आज तेरे साथ मस्ती मारूं? मैंने एक सिगरेट उनको देकर एक खुद सुलगा दी और कश खींचने के बाद बियर का घूँट भरकर दीदी मुझसे बोली हाँ अब तू बोल। अब तक दोस्तों में उनसे बहुत खुल चुका था, इसलिए अब मेरा डर कुछ कम हो चुका था, में बोला वो क्या है कि दीदी आप तो शादीशुदा हो और मुझसे बड़ी उम्र की मतलब 28 से ज्यादा की औरतें अच्छी लगती है और मुझे 45-50 की सुडोल भरे हुए बदन वाली भी अच्छी लगती है और अब दीदी हैरानी से मेरी तएफ़ देख रही थी, बियर का एक घूँट लेकर वो पूछने लगी, लेकिन भाई 45-50 की तो बूढ़ी होती है, अच्छा यह बताओ अपने से बड़ी उम्र की औरतों में तुम्हें ऐसा क्या नज़र आता है, जो तुम्हें वो अच्छी लगती है? अब मैंने कहा कि दीदी में सोचता हूँ कि खैर आप जाने दो वरना आप बुरा मान जाओगी, मेरे विचार जानकर आप सोचोगी कि में कितना गंदा हूँ? तो दीदी कहने अरे नहीं यार हर आदमी की अपनी एक पसंद होती है और अब तो तुम्हारी बातों में मुझे भी बहुत मज़ा आ रहा है, बोलो ना प्लीज बताओ? वो मेरे हाथ पकड़कर बोली। फिर मैंने कहा कि दीदी बड़ी उम्र की लेडी का बदन खासकर उसके कूल्हे और छाती बहुत भरे हुए होते है, मुझे बड़े कुल्हे और छाती वाली अच्छी लगती है। फिर वो बोली अरे यार हिन्दी में बताना कि तुझे बड़े कूल्हे और बूब्स वाली पसंद है, तो में उन्हें देखता रह गया और उनके मुहं से सुनकर मेरे लंड ने ज़ोर का झटका दिया। फिर मैंने उनसे कहा कि दीदी आज आप मुझे पूरा बेशरम बनाकर छोड़ोगी। अब वो झूमते हुए कहने लगी दोस्त बेशरमी अच्छी होती है और पागल दिल की कोई भी बात छुपानी नहीं चाहिए, तूने कभी किसी बड़ी उम्र की औरत के साथ कुछ किया भी है या बस विचारों में ही। फिर मैंने कहा नहीं दीदी अब तक तो कोई नहीं है। फिर वो बोली कि मेरे प्यारे भाई फिर तू क्या करता है? मैंने बोला कि कुछ नहीं बस ऐसे ही काम चला लेता हूँ।

दीदी : यानी अपना हाथ जगन्नाथ क्यों?

में : धत हाँ में शरमाते हुए बोला।

दीदी : क्यों रोज़ाना या कभी कभी?

में : कभी कभी दीदी।

दीदी : हाँ ठीक है रोज़ाना नहीं करना चाहिए, उससे सेहत खराब हो जाती है।

में : लेकिन क्या करूँ दीदी कंट्रोल ही नहीं होता, जब भी कोई 28-35 की सुंदर सी औरत देखता हूँ, मेरा जी मचल उठता है और अब तो और बुरा हाल है, अब तो किसी रिश्तेदार की औरत को देखकर भी बुरा हाल हो जाता है, इसलिए में अब तुम्हारे यहाँ भी नहीं आता।

दीदी : क्यों मेरे यहाँ कौन है? में हूँ माँ और रंजीत है।

में : सच बोलूं?

दीदी : हाँ भाई बोल?

में : आप और आपकी माँ की वजह से।

दीदी : क्या तुझे में भी और मेरी माँ इतनी अच्छी लगती है, तू हम माँ बेटी के बारे में क्या सोचता है?

दोस्तों अब मेरी तो गांड ही फट गयी। फिर मैंने कहा कि दीदी मैंने तो पहले ही कहा था आप बुरा मान जाओगी, तो वो बोली कि अरे नहीं मेरे प्यारे भाई में तो सोचकर हैरान हूँ कि अब भी मुझमें ऐसी क्या बात है, जो तुम जैसा जवान लड़का मुझे इतना पसंद करता है बताओ ना प्लीज? में बोला क्या में सच में बताऊं दीदी? वो बोली अरे यार हाँ अब बोल भी। फिर मैंने कहा कि दीदी आप मुझे बहुत सेक्सी लगती हो, आपके बड़े बड़े बूब्स और कूल्हे देखकर मेरा बुरा हाल हुआ पड़ा है और मेरे लंड की तो आप पूछो ही मत, आपके रसीले होंठ बड़ी, बड़ी आँखें आपको एकदम कामुक बनाती है, में ही क्या कोई 70 साल का बूड़ा भी आपको देखे तो वो भी पागल हो जाए और में एक ही साँस में सब बोल गया और वो पूछने लगी क्या में सच में तुझे इतनी अच्छी लगती हूँ?

में : हाँ दीदी।

दीदी : और बता क्या क्या मन करता है तेरा?

में : दीदी जब आप खाना बना रही थी, तो आपको भीगे हुए ब्लाउज और पेटिकोट में देखकर मेरा मन किया कि पीछे से आपके कूल्हे पर से पेटीकोट को उठाकर में आपकी गांड को चाट लूं, आपके बूब्स पी जाऊं, आपके होठों को चूस लूँ और उन पर अपने लंड का टोपा रगड़ दूँ, दीदी आप कितनी प्यारी हो उूउउफफफफ्फ़ कोई भी भाई आपके जैसी बहन को ज़रूर चोदना चाहेगा, देखो मेरे लंड का क्या हाल है? यह कहते हुए मैंने अपनी लूँगी को उतार दिया। अब दीदी मेरे लंड को देखकर बोली कि तेरा लंड तो तेरे जीजी से भी बड़ा और मोटा है, उनसे ही क्या अब तक जितने भी लंड मैंने खाए है, यह उन सबसे अच्छा है। मेरे राजा इसे तो में अपनी चूत में ज़रूर लूँगी, अरे यार इसे तू मेरे हाथ में तो दे उउफफफ्फ़ कितना चिकना है और अब वो मेरा लंड पकड़कर धीरे धीरे सहलाने लगी और उनका नरम हाथ अपने लंड पर लगते ही में बिल्कुल पागल हो गया। फिर में बोला कि दीदी आप अपने कपड़े भी तो उतारो ना प्लीज। अब वो मेरी आँखों में झाँककर बोली जिसे ज़रूरत हो, वो उतारे और मैंने यह बात सुनकर उन्हें पकड़कर तुरंत खड़ा कर दिया और उनका कुर्ता उतार दिया और उनकी लूँगी एक झटके में ही खुल गयी, जिसकी वजह से अब मेरी रीना बहन पूरी नंगी मेरे सामने थी और हम दोनों एक दूसरे को देख रहे थे। फिर दीदी ने हाथ आगे बढ़ाकर मुझे खींचकर अपने से चिपका लिया और इस तरह मेरा लंड उनकी चूत से और उनकी छाती मेरी छाती से चिपक गयी, वो मेरे गालों को चूमती चाटती जा रही थी, ऊफ्फ्फ्फ़ तू अब तक कहाँ था? पागल मुझे पता होता तो में तुझसे पहले ही चुदवा लेती मेरे भाई, चोद डाल आज अपनी बहन को, आह्ह्ह्ह कितने दिनों के बाद आज मुझे कोई जवान लंड मिलेगा, हहिईीईई आज तो बस रात भर चोद मुझे जैसे चाहे वैसे चोद।

फिर मैंने कहा हाँ दीदी में आज तुम्हें जी भरकर चोदूंगा, तुम्हारी चूत पहले तो में चाटूँगा, फिर चोदूंगा (चूमते हुए) क्यों चाटने दोगी ना दीदी? अब वो बोली हाँ मेरे राजा तुम चूत चाटो, में तुम्हारा लंड चूसती हूँ, हम एक दूसरे को चूमते रहे और थोड़ी देर बाद दीदी मुझे बेड पर ले गई और मुझे लेटा दिया, मेरा लंड छत की तरफ़ तना हुआ था, वो अपने दोनों पैरों को मेरे मुँह की तरफ़ करके मेरा लंड चूमने लगी। फिर उसने मेरे लंड को अपने मुँह में ले लिया उूउउम्म्म्ममम उसके मुँह का गीलापन महसूस करके में सिसक पड़ा, उसकी चूत ठीक मेरे मुँह के पास थी, उउफ़फ्फ़ वाह क्या चूत थी? मस्त मोटे होठों वाली फूली हुई। मैंने पहले तो उसकी चूत पर एक किस किया, जिसकी वजह से वो उछल पड़ी, लेकिन मेरा लंड अपने मुँह से बाहर नहीं निकाला। उसके बाद मैंने अपनी पूरी जीभ बाहर करके उसकी चूत पर ऊपर से लेकर नीचे तक घुमाई। फिर दीदी बोली वाह कितना प्यारा लंड है तेरा उूउउम्म्म्म पुउउऊच, में बोला कि हाँ दीदी आपकी चूत भी बड़ी नमकीन है, जी करता है में इसको खा जाऊं। फिर बोली हाँ तो खा ले ना साले तुझे रोक कौन रहा है? मैंने कहा हाँ मेरी जान दीदी, मेरी रंडी बहन में तेरी चूत को जरुर खाऊंगा, तू भी मेरा लंड चूस साली। अब दीदी कहने लगी साले मादरचोद तू मुझे रंडी बोल रहा है, रंडी की औलाद साले तेरी माँ की चूत, में तेरा सारा रस चूस पी जाउंगी। फिर मैंने बोला हाँ आईईईईई चूस ले साली में रंडी की औलाद हूँ तो तू भी तो उसी की हुई ना? उूउउफफफफफ्फ़ क्या चिकनी चूत है तेरी।

फिर ऐसे ही गालियाँ बकते हुए हम एक दूसरे के लंड और चूत को चूसते रहे। उसके बाद दीदी बोली महेश अब तू चोद दे मुझे मेरी चूत में बहुत खुजली हो रही है। अपने इस मोटे लंड से मेरी चूत की प्यास को बुझा दे मेरे हरामी भाई और फिर दीदी सीधी होकर लेट गई और मैंने एक तकिया उनकी गांड के नीचे लगा दिया और उनके पैरों के बीच में बैठ गया और अपना लंड हाथ से पकड़कर उसकी चूत पर रगड़ने लगा, जिसकी वजह से दीदी सिसकियाँ लेकर कहने लगी, उफफ्फ्फ्फ़ अरे बहन क्यों इतना तड़पा रहा है, चोद ना साले कुत्ते चोद मुझे, देख नहीं रहा कि में चूत की खुजली से मरी जा रही हूँ। फिर मैंने बोला कि हाँ लो दीदी और अपना लंड उसकी चूत के मुहं पर रखकर मैंने एक ज़ोर का झटका मारा, जिसकी वजह से मेरा टोपा उस चूत में घुस गया, वो तड़प उठी और बोली उूउउइईईई माँ में मर गई साले में तेरी बहन जैसी हूँ, क्या तू ज़रा आराम से नहीं चोद सकता, मुझे तूने क्या रंडी ही समझ लिया? आह्ह्हह्ह अरे महेश भाई ज़रा धीरे धीरे आराम से चोद, में कहीं भागी नहीं जा रही हूँ। फिर मैंने एक और झटका मारकर अपना पूरा का पूरा लंड उसकी चूत में डाल दिया और उनसे बोला ले साली नखरे तो ऐसे कर रही है, जैसे पहले कभी तेरी चूत चुदी ही ना हो, साली अब तक पता नहीं तू अपनी चूत से कितने लंड खा चुकी है और मेरे लंड से जान निकल रही है हहिईीईईईईई में भी क्या करूँ तेरी चूत ही ऐसी प्यारी है कुत्ती कमीनी, में अपने को रोक नहीं पा रहा हूँ।

फिर वो कहने लगी अरे साले गांडू लंड तो मैंने बहुत खाए है, लेकिन तेरा लंड उूउउइइइ माँ आह्ह्ह्ह सीधा मेरी चूत की बच्चेदानी पर ठोकर मार रहा है और पहला धक्का भी तो तूने ज़ोर से मारा था, चल अब चोद मुझे और आज में देखती हूँ कितना दम है तेरे लंड में? तो में उसके बूब्स को दबाते हुए चोदने लगा और उसके होठों को चूसते हुए में बोला कि दीदी अब तक कितने लंड से चुदवा चुकी हो? तो दीदी बोली कि अरे मेरे राजा भाई अब तो गिनती भी नहीं याद, तेरे जीजा जी बहुत चुदक्कड़ आदमी है। अब भी वो रोज मुझे चोदते है और मुझे भी उन्होंने अपनी तरह बना लिया है, वो कहते है कि चूत और लंड का मज़ा हर आदमी और औरत को दिल खोलकर लेना चाहिए, हमारे यहाँ सब ऐसे है। अब उनके मुहं से यह बात सुनकर में और भी उत्तेजित हो गया और उसकी चूत पर धक्के मारता हुआ बोला और दीदी आपकी माँ? दीदी बोली कि मुझे पता है तेरी नज़र मेरी माँ पर भी है, में उसको भी तुझसे चुदवा दूँगी और वो तेरे लंड को देखकर तो वो पागल हो जाएगी। फिर में खुश होकर पूछने लगा क्या सच दीदी? और बताओ ना अपने परिवार के बारे में मुझे बड़ा मज़ा आ रहा है, तुझे चोदते हुए सुनने में मेरी जान बता ना? तब दीदी बोली तो सुन उूुुुउउंम तू मेरे बूब्स को भी चूसता जा हाँ ऐसे ही आईईईइ तेरा लंड बहुत ही मज़ेदार है, मुझे तुझसे चुदाई करवाने में बहुत मज़ा आ रहा है और चोद ज़ोर ज़ोर से चोद मुझे। तेरे जीजा को गांड मारने का बड़ा शौक है। फिर मैंने कहा वाह दीदी तुम्हारे घर में तो बड़ा ही मस्त माहोल है। दीदी बोली कि आईईईईईईईई दीदी मम्मी की चूत कैसी थी, क्या तुम्हारी तरह थी? क्यों तुमने तो जरुर देखी होगी? अब में झड़ने वाली हूँ और ज़ोर से चोद साले कुत्ते मादरचोद चोद अपनी बहन को, चोद फाड़ दे मेरी चूत, ले साली हरामजादे। फिर मैंने कहा अब में भी झड़ने वाला हूँ, तेरी चूत में डालूं अपना माल या बाहर? मेरे मुहं में डाल दे और तेरा रस पिला दे और मैंने उसकी चूत से अपने लंड को बाहर निकाला और वो मेरे लंड पर टूट पड़ी और लंड को चूसने लगी। में उसके मुँह में धक्के मारते हुए चिल्लाया उूउउइईईईई हाँ खाजा साली मेरी रंडी बहन अपने भाई का लंड चूस ले, मेरा सारा रस उूउउम्म्म्मममम हाँ और मेरे लंड से निकली पिचकारी दीदी के मुँह में गिरने लगी, जिसको वो चूसने लगी। फिर दीदी ने मेरे लंड का पूरा पानी एक एक बूँद करके अपने मुहं में निचोड़ डाला और फिर वो चटकारे लेते हुए अपने होठों से मेरा लंड आज़ाद करके बोली वाह बड़ा मज़ेदार है तेरा रस तो, साले मज़ा आ गया और फिर वो मेरे होठों को चूमकर बोली है, बड़ा मज़ा आया मेरे राजा भैया साले तू बहुत अच्छी चुदाई करता है। फिर में बोला कि हाँ मेरी चुदक्कड़ रानी बहन बहुत मज़ा आया, तुझे चोदकर और उसके बाद हम दोनों वैसे ही पूरे नंगे एक दूसरे से लिपटक सो गए ।।

धन्यवाद …

You may also like...

4 Responses

  1. says:

    Hey everyone I m rajesh 7894299307 cl me girls role play phon sex , i am back … Aur iss baar toh ek dum nayi kahani ke saath aayi hu , aap toh mjhe jante hihai jannat hu jannat , 36-28-32 … Colour bhi ek dum gora fair , Toh abmai apni behen ke baare mai batati hu , voh mjhse 5 saal choti hai uska naam isha hai uska figure 34-30-34 hai … voh bhi ek dum gori rkhi hai ….uska bhi BF hai toh voh virgin toh nahi hogi , chalo ab mai kahani mai aati hu –Hua hai yeh last kahani mai jab mai usse chud chuki thi aur maine usse bola ki maine pill nahi khayi thi toh voh hasne laga aur chala gaya , fir kuch din baad maine usse call karke bulaya ghr pe , meri behen kahi jane wali thi islye usse bulaya pr meri behen jab tk gayi nahi aur voh aa gaya tha – maine usse bahar vale room mai bithaya aur rote rote boli ki dekho 2 months ho gaye hai mai pill nahi khaa rahi mujhe baccha chaiyeh , shaadi kar lo mujhse , voh bolta ki pagal ho gayi , mai abhi job bhi nahi karta auryeh sb natak band karo aur apni behen ko bahar bhejo jaldi aaj nayi position se sex karunga maine ussezor se thappadda maara , utne mai meri behen aa gayi aur mjhe rota dekh kar mere paas aa gayi aur bolididi kya hua aap kyo ro rahe ho , aurisse kyu maara – maine usse bataya ki yeh mera BF hai Toh voh chaunk gayi aur boli di aap pagal hogayi ho kya ! Fir maine bataya ki maine pill nahi li hai 2 months se aur yeh maan nahi raha hai – fir maine isha ko puri details mai bataya ki kese isne mjhe choda hai 3 baar – car mai , ghr pe 2 baar aur ek baar toh oil ke saath , Isha garam hone lgi jese jese maine usse bataya meri chudai ke kisse toh voh apne honth chabane lagi aur baar baar uski taraf dekhne lagi, aur meri jaangho pe haath ferne lagi ,Yeh sb voh kamina dekh raha tha aur fir usne apna haath meri janghope rkha Aur haan maine simple sa TOP aur Shorts (chaddha) pehen rkha tha bra&panty tk nahi pehni thi aur meri behen toh bs puri taiyar thiSleeveless Golden colour ka top aurtight jeans , red lips tick bhi lga rkhi thi usne aur dhire dhire dono apne haath meri chut tk laye aur mere top mai ghusa dia aur fir dono paasaye aur kiss karne lge , mai toh shock ho gayi mere samne voh dono kiss kar rahe the aur dono ke haath mere top ke andar , mjhe gussa bhi aa raha tha pr mai garam bhi ho rahi thi aur mjhe sex karne ka mann karne laga , fir voh dono ruke aur meri behen mera top utarne lagi aur mai utaar bhi rahi thiusne mera top utaar dia aur mere dono bade bade dudh ko masalne lagi aur mere lips pe aa kar apne lips ko touch karne lgi , kiss nahi karrahi thi kamini sirf touch karti taki mai garam ho jau aur usse kiss karu , uske mulayam lips mjhe garam kar rahe the , voh dhire dhire niche aane lagi mere neck pe kiss karne lgi , life mai pehli baar mjhe koi ladki kiss kar rahi thi , voh bhi meri khud ki behen hi thi , aur voh kamina nanga khada ho kar muth maarne laga uska toh din hi ban gaya tha , meri behen ne meri puri neck gili kar di thi , ek dum ice cream ki tarah mjhe chaat rahi thi , aur fir mere dudh ko kaatne lagi aurmeri aahein nikalne lagi aur mai kehne lgiAah Aah ! Kamini aaah ! Aah ! Dudh hai Gulab jamun nahi hai jo chaba rahi hai , mai toh sirf aankhe band karke jo ho raha tha hone de rahi thi, aur voh kamina josh mai aa gaya aur muth tezi se marne laga aur bolne lga anubha isha , jaldi , chuso – suck it ! Aur meri behen ne tezi seuska lund pakda aur chusne lagi mai bhi piche nahi ruki aur uske gote. Chusne lagi , haaye kya maza aa raha hoga uss kamine ko , Hum dono chikni – chikni behen zameen pe ghutne ke bal beth kar uska lundchus rahi thi aur gotiya bhi chaba rahi thi , utne mai uska cum nikal gaya , jab uska cum nikla tab uska lund mere behen ke muhh mai tha aur uska ghada ghada safed cream jaisa cum meri behen ke muhh se bahar nikla aur mere chehre pe giraaur meri behen isha ne uska cum andar hi rkha tha aur mere paas aayi aur mjhe zor se kiss karne lgi , haaye kya scene tha , isha mere muhh mai garam garam cum daal rahi thi aur hum dono jam ke kiss kar rahe the aur dhire dhire karke hum dono cum pii gaye kam se kam 1 glass bhar ke cum nikla tha uss kamine ka , aur mai uthi aur andar jane lagi , meri behen piche piche aane lagi , mai sidhe bathroom mai ghus gayi aur meri behen mere saath andar aa gayi, aur apne kapde utarne lagi , aur uske mulayam daar boobs ke mjhe darshan hue , hum dono ab upar kuch nahi pehne the aur dono ke face pr cum tha , maine shower on kia aur dhire dhire usko kiss karte hue uski jeans utarne lgi , usne ek jhatke mai mera shorts niche kar dia fir maine uski jeans utari aur ab voh sirf panty mai thi aur mai puri nangi , usne mjhe kiss karna start kia dhire dhire voh mjhe kiss karte hue apni ungli meri chut mai daalnelgi aur mjhse lipatne lagi mujhe yaha vha kiss karne lgi , mai bhi apni ungliyano se uski chut ko sehlane lgi aur fir usne mjhe diwala se lga kar khada kar dia , ab hum dono gile the pure aur garam the aur dono ki lund ki bhuk thi , voh niche bethi aur meri chut chaatne lgi , mai aaah aaah issh issh aaah ! Isha beta aaram se issh aah iisssh isshaa aaah aah , maine apne haathuske sar pe rkhe aur pressure se uska sar meri chut mai touch karne lgi , mjhe maza hi aa gaya tha aur isha fir upar uthi aur haath upar karke mjhe kiss karne lgi , aur bolti didi ab meri chance , maine usse diwaal ki taraf kia aur hand shower lia aur usse full pe karke uski chut mai pani maarne lgi aur voh aahein bhrne lgi issh aaah aaah aaah ! Ahaah aaah , oh ! Aaah , aur mai uske boobs ko katne lgi aaah aah , maza hi aa gaya , itne mai bathroom ke door pe knock , hum dono smjh gaye ki hamar lund aa gaya tha , maine hand shower apni behen ko dia aur gate khol kar uss kamine ko andar kia aur hum dono kiss karne lge aur meri hand shower apni chut kai marne lgi , fir voh ruka aur meri behen ko doggystyle ki position mai kara , aurmjhe bolta ki tum iske niche let jao ,mai niche let gayi aur meri behen mere upar thi uske dudh latak rahe the maine uske boobs ko chusna shuru kar dia aur voh kamine ne meri behen ki chut mai zor se lund daala ! Meri zor se cheekhe aaaaaahhhh ! Marr gayi aur niche se mai uske boobs bhi chabane lgi ,voh piche se lund daal andar bahar kar raha tha aur mai dudh chaba rahi thi aur bich bich mai kiss bhi kar rahi thi , meri behen ki awaaz hi nikal nahi paa rahi thi voh kamina aur tez ho gaya aur meri behen mere lips kaatne aur mai hati aur usne chilaya aaah aaaah aaaah aaah , oh oh oh God , please ab aur nahi ruk jao please ruk jaa , aaah aaah aah … isssh aaah aah ! Mummy aah aaah issh,Mai usko aaram se kiss karne lgi firvoh shant hui aur aahein bhrne lgi aah aah oh oh , shayad voh iss position mai nahi chudi thi , fir maine uss kamine ko roka , aur bolaki mjhe chod , meri cheekh niklva kebata , voh niche leta aur apna tana hua lund le kar mjhe uspe bithaya aur mere boobs ko pakad kar chodne laga mai uske lund pe upar niche ho rahi thi aur aaahein bhr rahi thi , aaah aaah aaah, oh oh oh , chodna kamine cheekh nikal kutte , voh josh mai aaya aur meri bhen ne apni chut mere muhh pe laga di aur mai uski chut ko chusne lagi , aaah !Kya scene tha shower chl raha tha voh kamina niche let kar mjhe chod raha tha mai uske lund pe upr nicheho rahi thi , aahein bhr rahi thi aur apni behen ki chut chuss rahi thi ! Aur voh kamina tez hone lga aur maine apni behen chut se muhh hataya aur cheekhi aaah aaaah ! Bs bss karo !Aaah aaah ! Ruk jaa baby ruk, aur voh bola ki jaldi hato , i am cumming jaldi chuso , hum dono behen niche beth gayi aur mai lund chusne lgi aur meri bhen uske gote aur fir uska cum mere muhh mai tha aur fir maine apni behen ka muhh khola aur pura cum uske muhh mai thooka aur usse voh pii gayi fir hum teeno uthe aur bed pe jake let gaye , gile the pr fir bhi itne thak gaye the aur voh kamina hum dono ko baaho mai le kar soo gaya ,aur hum teeno shaam tk uthe aur usse snacks vagera diye aur uske jate hi hai hum dono behene fir shuru ho gayi kiss karne cl me girls for role play bhai behen sex 7894299307

  2. says:

    My whataap no (7266864843) jo housewife aunty bhabhi mom girl divorced lady widhwa akeli tanha hai ya kisi ke pati bahar rehete hai wo sex or piyar ki payasi haior wo secret phon sex yareal sex ya masti karna chahti hai .sex time 35min se 40 min hai.whataap no (7266864843)

  3. Sanjay says:

    कोई लड़की भाभी आंटी तलाकशुदा ओर विधवा भाभी जो अकेली हो ओर जवान लड़के से दोस्ती करना चाहती हो तो मुझे व्हाट्सएप कर सकती हो 9693659910 सिर्फ महिलाएं

  4. Divyanshu says:

    My 6394405272 call kre aunty girls phn or hi apko pura santust kr dunga

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *



"indian sex kahani""desi hindi sex story""bengali porn stories""guder bangla golpo""sex hindi story""www.bengali choti.com""chodar golpo bangla""xxx hindi stories""hindi chudai kahani com""sex storry""hindi sex story devar bhabhi""bangla panu galpo""telugu sexy stories""bangla choda""stories of sex""porn stories in hindi""odia sex stories""porn sex story""bhai behan sex stories""panu bangla golpo""hindi sex storie""hot stories hindi""didi ki chudai""chodachudir golpo""desi chudai kahani""xxx sex stories""panu story in bengali""bhai bahan sex story""chudai ki kahani""bhai bahan ki sexy story""desi sex stories in english""incest sex story""bhai bhan sex kahani""kamwali ki chudai""sex storie""best hot sex""bangla panu choti golpo""sex story in bengali""bangala choti""mother son sex story""bangla choti golpo"bengalichotikahini"chudai ki kahania""boudi golpo in bengali font""sex khaniya""bhai se chudai""new indian sex stories""bengali sex story""sexy story in bengali""hindi sax story""bhai bahan sex story com""indian rape sex stories""english xxx stories""bengali hot story""mother and son sex stories""bengali choti kahani""sex with bhabhi""চটি গল্প""बहन की चुदाई""indian xxx stories""gud marar golpo""hindi sex storey""hot hindi sex stories""behan ki chudai""sex storys""porn story in bengali""incest indian sex stories""indian telugu sex stories""choti golpo hot""sex hindi kahani""bangladeshi panu golpo""hot telugu sex stories""hindi porn kahani""lesbian choti""sex choti""indian aunty sex stories"